सरकारी स्कूल में केवल गरीब बच्चे करते हैं पढ़ाई

नौतन विधानसभा क्षेत्र के झखरा टोला गाँव के अधिकतर बच्चे प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने जाते हैं क्योंकि उनके अभिभावकों का सरकारी स्कूलों पर से विशवास उठ गया है. वे कहते हैं कि यदि बच्चों का भविष्य बनाना है तो उन्हें पढ़ाई के लिए प्राइवेट स्कूल भेजना ही पड़ेगा.

school1झखरा टोला गाँव के बहुत से लोगों ने केवल इतना ही नहीं कहा कि उनके गाँव के सकूल में पढ़ाई ठीक नहीं होती है बल्कि उन्होंने तो यहां आरोप लगाया कि सरकारी स्कूलों में केवल फर्जी डिग्री वाले मास्टर बन बैठे हैं, और  जिन्हें खुद किताब पढ़ना नहीं आता वह बच्चों को क्या शिक्षा देंगे.

झखरा टोला के स्थानीय निवासी तारकेश्वर सिंह कहते हैं: “आज अच्छी शिक्षा वाले तो घर पर बेरोजगार बैठे हैं किन्तु अनपढ़ नौकरी कर रहे हैं. अगर ऐसे व्यक्ति हमारे बच्चों को पढ़ाएंगे तो उनका भविष्य कैसा होगा यह समझा जा सकता है. यहां के सरकारी स्कूलों में पढ़ाना बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ होगा.”school2

इस गाँव के प्राथमिक स्कूल में भवन के अलावा शौचालय और बच्चों के खेलने कूदने की भी सुविधा है लेकिन यहां केवल गरीबों ही के बच्चे पढ़ने जाते हैं.

Share

Leave a comment

Your email address will not be published.


*